spot_img

लेटेस्ट न्यूज

Vitamin B12 की कमी से चेहरे पर दुष्प्रभाव

विटामिन बी12 की कमी से शरीर में कई समस्याएं होने लगती हैं। कई बार चेहरे का रंग अचानक से बदल जाता है। पूरा चेहरा पीला नजर आ रहा है. ऐसे में आइए जानें विटामिन बी12 की कमी से क्या नुकसान हो सकता है।

Vitamin B12 की कमी: विटामिन बी12 शरीर के विकास और स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। यह रक्त कोशिका निर्माण, तंत्रिका संबंधी कार्य, डीएनए संरचना और प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने में मदद कर सकता है। इसकी मदद से शरीर खुद को संक्रमण और कई तरह की बीमारियों से बचा सकता है। यही कारण है कि विटामिन बी12 की कमी से शरीर में कई समस्याएं होने लगती हैं। कई बार चेहरे का रंग अचानक से बदल जाता है। पूरा चेहरा पीला नजर आ रहा है. ऐसे में आइए जानें विटामिन बी12 की कमी से क्या नुकसान हो सकता है।

मुहांसे और रूखेपन की समस्या

हार्मोनल बदलाव से मुंहासे और रूखेपन जैसी त्वचा संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में शरीर में विटामिन की कमी का असर साफ नजर आता है। विटामिन ए और ई की कमी से चेहरे पर पिंपल्स हो सकते हैं। विटामिन बी12 की कमी से त्वचा बेजान दिखने लगती है। इसके अलावा, अत्यधिक थकान, मूड में बदलाव और अन्य लक्षण भी हो सकते हैं।

विटामिन बी12 त्वचा के लिए कितना महत्वपूर्ण है?

विटामिन बी12 त्वचा के लिए बहुत स्वास्थ्यवर्धक माना जाता है। यह कोलेजन उत्पादन को बढ़ाता है और त्वचा को भीतर से हाइड्रेट करता है। इससे त्वचा अधिक संवेदनशील हो सकती है या चेहरे पर सूजन आ सकती है। इसके उपचार में विटामिन बी12 भी भूमिका निभाता है। विटामिन बी12 स्वस्थ कोशिका उत्पादन को बढ़ावा देकर झुर्रियों और उम्र बढ़ने के प्रभावों को कम करने में मदद करता है।

त्वचा का पीला पड़ना

यदि शरीर को भोजन से पर्याप्त विटामिन बी12 नहीं मिलता है, तो जीभ का रंग लाल हो सकता है। कभी-कभी जीभ पर सूजन भी देखी जाती है। कभी-कभी परीक्षण की आवृत्ति भी कम की जा सकती है। इसे ग्लोसिटिस कहा जाता है। इस विटामिन की कमी से त्वचा पीली दिखाई देने लगती है। यह स्थिति तब होती है जब शरीर पर्याप्त आरबीसी बनाने में सक्षम नहीं होता है। विटामिन बी12 लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ऐसे में इसकी कमी से आरबीसी की कमी या मेगालोब्लास्टिक एनीमिया का खतरा रहता है, जिसका सीधा संबंध पीलिया से होता है।

शरीर में कितना विटामिन बी12 होना चाहिए?

डॉक्टर के पास जाकर जांच कराने से विटामिन 12 की कमी का पता लगाया जा सकता है। विटामिन बी12 की कमी का निदान तब किया जाता है जब रक्त में विटामिन बी12 का स्तर 150 प्रति मिलीलीटर से कम हो। इस परीक्षण को पूर्ण रक्त गणना (सीबीसी) और विटामिन 12 रक्त स्तर परीक्षण के रूप में जाना जाता है। विटामिन बी12 के मुख्य स्रोत मांस, मछली, अंडे और दूध हैं। शाकाहारी लोग अनाज का सेवन कर सकते हैं।

Disclaimer: इस लेख में बताए गए तरीकों, तरीकों और सुझावों को लागू करने से पहले कृपया डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें।

देशदुनियाबिजनेस अपडेटबॉलीवुड न्यूजटेक & ऑटोक्रिकेट और राजनीति से लेकर राशिफल तक की ताजा खबरें पढ़ें। ट्रेंडिंग और लेटेस्ट न्यूज के लिए Buzztidings Hindi को अभी सब्सक्राइब करे।

जरूर पढ़ें

Latest Posts

ये भी पढ़ें-