Wednesday, July 17, 2024
spot_img

लेटेस्ट न्यूज

RS vs Dollar Today: कारोबारी हफ्ते के पहले दिन रुपये ने बाज़ी मारी , डॉलर पर पड़ा 12 पैसे भारी

RS vs Dollar Today: कारोबारी सप्ताह के पहले दिन अमेरिकी डॉलर (Dollar) के मुकाबले भारतीय रुपये (Rupee) की कीमत में उल्लेखनीय बढ़ोतरी देखी गई। दिन का समापन रुपये ने 12 पैसे की बढ़त के साथ किया। इसके साथ ही वैश्विक बाजार में अमेरिकी डॉलर में गिरावट देखी गई। इसके अतिरिक्त, भारतीय शेयर बाजार में एक महत्वपूर्ण उछाल देखा गया, साथ ही विदेशी निवेश में भी वृद्धि हुई, जो जुलाई में 30,000 करोड़ रुपये को पार कर गया।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क, RS vs Dollar Today: कारोबारी हफ्ते की शुरुआत शेयर बाजार और भारतीय रुपये दोनों के लिए सकारात्मक खबर लेकर आई। शेयर बाजार में तेजी के साथ-साथ अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में 12 पैसे की बढ़ोतरी हुई और यह 82.05 (अनंतिम) पर बंद हुआ। अमेरिकी डॉलर में कमजोरी का श्रेय डॉलर इंडेक्स में गिरावट और विदेशी निवेशकों के भारतीय शेयर बाजार में निवेश को दिया जा सकता है। इसके अतिरिक्त, भारतीय इक्विटी बाजार में लगातार विदेशी फंड प्रवाह ने रुपये को और समर्थन प्रदान किया है।

डॉलर के मुकाबले रुपया 82.14 पर मजबूत खुला

इंटरबैंक फॉरेन एक्सचेंज के अनुसार, भारतीय रुपये ने कारोबारी दिन की शुरुआत मजबूत रुख के साथ की और अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 82.14 पर खुला। यह पिछले बंद की तुलना में 12 पैसे की वृद्धि दर्शाता है। पूरे दिन रुपये में उतार-चढ़ाव होता रहा, जो इंट्रा-डे के उच्चतम स्तर 82.03 और न्यूनतम स्तर 82.20 तक पहुंच गया। पिछले शुक्रवार के सत्र में डॉलर के मुकाबले रुपया 82.17 पर बंद हुआ था।

घरेलू बाजारों के बेहतर प्रदर्शन और कमजोर अमेरिकी डॉलर से प्रभावित होकर भारतीय रुपये ने मामूली लेकिन सकारात्मक रुख दिखाया। विशेष रूप से, आज, भारतीय शेयर बाजार एक नई सर्वकालिक ऊंचाई पर पहुंच गया, जिससे घरेलू मुद्रा में तेजी आई।

कमजोर डॉलर का प्रभाव

Indian Rupee vs US Dollar: अमेरिकी मुद्रा की ताकत का संकेत देने वाला डॉलर इंडेक्स 0.12 फीसदी की मामूली गिरावट के साथ 99.79 पर कारोबार कर रहा था। इसके साथ ही रुपये की चाल को प्रभावित करने वाला अहम कारक ब्रेंट कच्चा तेल 1.94 प्रतिशत की उल्लेखनीय गिरावट के साथ 78.32 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था।

बीएनपी पारिबा के शोध विश्लेषक अनुज चौधरी के अनुसार,

अमेरिकी डॉलर इस समय 15 महीने के सबसे निचले स्तर के आसपास मँडरा रहा है। इस गिरावट का श्रेय अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में एक और बढ़ोतरी की बढ़ती संभावना को दिया जाता है, जो मुख्य रूप से मुद्रास्फीति में अप्रत्याशित रूप से तेजी से कमी के कारण है।

भारतीय शेयर बाज़ार में क्या हाल रहा

आज 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 529.03 अंक या 0.80 फीसदी की बढ़त के साथ 66,589.93 के बंद भाव पर पहुंचकर कारोबारी सत्र का समापन किया. इसके साथ ही एनएसई निफ्टी में 146.95 अंक यानी 0.75 फीसदी की बढ़त देखी गई और यह 19,711.45 पर बंद हुआ। एक्सचेंज डेटा के मुताबिक, विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने शुक्रवार को 2,636.43 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे।

जुलाई में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने भारतीय शेयर बाजार में निवेश का लगातार स्तर बनाए रखा है। अब तक, इस महीने के दौरान कुल 30,600 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया गया है। एफपीआई से धन का यह निरंतर प्रवाह भारतीय बाजार में उनकी निरंतर रुचि और विश्वास को दर्शाता है।

इसके अलावा, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार को घोषणा की कि 7 जुलाई को समाप्त सप्ताह में भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 1.229 बिलियन अमेरिकी डॉलर बढ़कर 596.28 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच गया। पिछले सप्ताह में, कुल विदेशी मुद्रा भंडार में अमेरिका द्वारा वृद्धि की गई थी। 1.85 अरब डॉलर, 595.05 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंच गया।

Business और Share Market से जुड़ी अधिक खबरों के लिए अपडेट रहें

जरूर पढ़ें

Latest Posts

ये भी पढ़ें-