Thursday, July 18, 2024
spot_img

लेटेस्ट न्यूज

‘रूस-यूक्रेन युद्ध में नया मोड़?’ उत्तर कोरिया देगा रूस को ‘पूरा समर्थन’

उत्तर कोरिया के राष्ट्रपति किम जोंग उन ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ लॉन्च बेस का दौरा किया। इसके बाद उन्होंने रूस के 'न्यायसंगत युद्ध' के लिए 'बिना शर्त समर्थन' का वादा किया।

Kim Un Jong: उत्तर कोरिया के राष्ट्रपति किम जोंग उन ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ लॉन्च बेस का दौरा किया। इसके बाद उन्होंने रूस के ‘न्यायसंगत युद्ध’ के लिए ‘बिना शर्त समर्थन’ का वादा किया।

एपी, सियोल: उत्तर कोरिया के राष्ट्रपति किम जोंग उन ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ प्रक्षेपण स्थलों का दौरा किया। इसके बाद उन्होंने रूस के ‘न्यायसंगत युद्ध’ के लिए अपना पूरा समर्थन दिया। उन्होंने दावा किया कि ‘साम्राज्यवादियों के ख़िलाफ़’ मोर्चे पर हम हमेशा रूस के साथ रहेंगे. तो वहीं दूसरी तरफ इस निरीक्षण के बाद हुई बैठक में संभावना जताई जा रही है कि सैन्य सहयोग पर चर्चा हुई, लेकिन इस बारे में साफ तौर पर कुछ नहीं कहा गया.

पुतिन ने रूस के सुदूर पूर्व में वोस्तोकनी कॉस्मोड्रोम में लॉन्च बेस के प्रवेश द्वार पर किम का स्वागत किया। इस अवसर पर बोलते हुए पुतिन ने घोषणा की कि दोनों देशों के बीच आर्थिक सहयोग, मानवीय मुद्दों और क्षेत्रीय स्थिति पर चर्चा की जाएगी। इसके बाद किम ने यूक्रेन युद्ध में रूस के प्रति समर्थन व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि रूस अपने संप्रभु अधिकारों, सुरक्षा और हितों की रक्षा के लिए आधिपत्यवादी शक्तियों के खिलाफ यह युद्ध लड़ रहा है।

यह भी पढ़ें: KIM JONG RUSSIA VISIT: किम जोंग उन पहुंचे रूस, पुतिन से बातचीत, अमेरिका की चिंता बढ़ी!

रूसी राज्य समाचार एजेंसी आरआईए (RIA) नोवोस्ती ने बताया कि प्रक्षेपण स्थलों का निरीक्षण करने के बाद, उत्तर कोरियाई राष्ट्रपति किम जोंग उन और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुधवार को चार से पांच घंटे तक बहुत से मुद्दों पर चर्चा की। पहले प्रतिनिधिमंडल की मौजूदगी में और फिर दोनों नेताओं के बीच चर्चा हुई. इस प्रतिनिधिमंडल में रूसी रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु शामिल थे. उन्होंने साफ किया कि ‘दोनों देशों के बीच संवेदनशील मुद्दों पर चर्चा हुई, इसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता.’

वार्ता के बाद पुतिन ने कहा कि किम दो शहरों कोम्सोमोल्स्क-ऑन-अमूर और व्लादिवोस्तोक का दौरा करेंगे। दूसरी ओर, जब किम रूस जा रहे थे, तब उत्तर कोरिया ने दो बैलिस्टिक मिसाइलें लॉन्च करके अपना आक्रामक रुख बरकरार रखा। उत्तर कोरिया ने पहली बार किम के बिना देश में मिसाइल परीक्षण किया है.

जरूर पढ़ें

Latest Posts

ये भी पढ़ें-