Wednesday, July 17, 2024
spot_img

लेटेस्ट न्यूज

Chandrayaan 3 Update: प्रज्ञान रोवर ने खींची चंद्रमा की सतह पर लाल-नीला रंग की अजीबो-गरीब पिक्चर, जानिए क्या है तस्वीरों के पीछे का राज

इसरो ने रविवार रात को प्रज्ञान रोवर को स्लीप मोड में डाल दिया। इसके बाद सोमवार सुबह विक्रम लैंडर भी सो गया है

Chandrayaan 3 Update: इसरो ने रविवार रात को प्रज्ञान रोवर को स्लीप मोड में डाल दिया। इसके बाद सोमवार सुबह विक्रम लैंडर भी सो गया है.

भारत के चंद्र मिशन ने सोमवार (4 सितंबर) को एक छोटा ब्रेक लिया। चंद्रयान-3, जिसे भारत की अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने पिछले महीने लॉन्च किया था, चंद्रमा की सतह की खोज कर रहा था। लेकिन, चूंकि अब चांद पर रात हो चुकी है यानी अंधेरा छा चुका है, इसलिए इसरो के शोध कार्य में थोड़ा ब्रेक लग गया है। पिछले कुछ दिनों से इसरो को प्रज्ञान रोवर और विक्रम लैंडर के जरिए चंद्रमा के बारे में विभिन्न जानकारियां मिल रही हैं, जैसे उसका तापमान, मिट्टी की संरचना, तस्वीरें और वीडियो। लेकिन, चंद्रमा पर अंधेरा होने के कारण यह शोध बाधित हो गया है।

चंद्रमा पर 14 दिन की रात और 14 दिन का प्रकाश होता है। अब चंद्रमा अंधकारमय है. इसलिए सोमवार को इसरो का अंतरिक्ष यान निष्क्रिय कर दिया गया. इसरो ने रविवार रात को प्रज्ञान रोवर को स्लीप मोड में डाल दिया। इसके बाद, सोमवार सुबह 8 बजे (भारत समय) विक्रम लैंडर हाइबरनेशन में चला गया। चंद्रयान-3 में लैंडर, रोवर समेत सभी उपकरण सौर ऊर्जा से संचालित हैं। इसलिए इस अंतरिक्ष यान को कुछ दिनों के लिए निष्क्रिय कर दिया गया है।

इसरो हाइबरनेशन में जाने से पहले प्रज्ञान और विक्रम द्वारा भेजी गई जानकारी पर शोध कर रहा है। इस बीच हाल ही में इसरो ने प्रज्ञान द्वारा इसरो को भेजी गई एक तस्वीर शेयर की है। इसरो ने ट्विटर पर चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर की 3D इमेज शेयर की है। दरअसल इस तस्वीर को 3D चश्मे से देखना वाकई मजेदार है। यदि आपके पास लाल और सियान 3D (लाल और नीला) चश्मा है, तो उसे लगाएं और इस तस्वीर को देखें। ये फोटो आपको चांद की सैर करा देगी. विक्रम लैंडर की ये तस्वीर प्रज्ञान रोवर ने खींची है. ये तस्वीर लैंडर से 15 मीटर दूर यानी 40 फीट की दूरी से ली गई है.

यह तस्वीर प्रज्ञान रोवर के NavCam द्वारा खींची गई है। जिसे बाद में नेवकैम स्टीरियो (Navcam Stereo) में बदल दिया जाता है। यह तीन चैनल वाली फोटो दरअसल दो फोटो को मिलाकर बनाई गई है। एक फोटो लाल चैनल पर थी और दूसरी फोटो नीले और हरे चैनल पर थी. यह तस्वीर इसरो के बेंगलुरु कार्यालय में एक डिजाइनर द्वारा बनाई गई थी। ताकि हम चांद का 3D नजारा देख सकें. अगर आप इस तस्वीर को 3D चश्मे से देखेंगे तो आपको ऐसा लगेगा जैसे आप चांद पर खड़े हैं और विक्रम लैंडर को देख रहे हैं।

देशदुनियाबिजनेस अपडेटबॉलीवुड न्यूजटेक & ऑटोक्रिकेट और राजनीति से लेकर राशिफल तक की ताजा खबरें पढ़ें। यहां रोजाना की ट्रेंडिंग न्यूज और लेटेस्ट न्यूज के लिए Buzztidings Hindi को अभी सब्सक्राइब करे।

जरूर पढ़ें

Latest Posts

ये भी पढ़ें-